News


Acharya Lokesh leaves for World Peace and Harmony Tour to Europe H.H. Pope will discuss World Peace and Religious Harmony with Acharya Lokesh Acharya Lokesh with address Interfaith Conference in Austria and Switzerland

23-02-2018

Founder of Ahimsa Vishwa Bharti Jain Acharya Dr. Lokesh Muni will leave for World Peace and Harmony Tour to Europe on Sunday February 25, 2018 from New Delhi International Airport. He will address International Conference ‘Interreligious Dialogue for Peace: Promoting Peaceful existence & Common Citizenship’ on 26-27 February in Vienna, Austria organized by at KAICIID (King Abdullah Bin Abdulaziz International Centre for Interreligious and Intercultural Dialogue). Acharya Lokesh Muni is the honorable member of KAICIID Advisory Forum he will represent Jain religion in the regular session of KAICIID Advisory Form to be held on 28 February. A joint action plan to lead the way in repairing the divisions created by extremists and rebuilt social harmony is under consideration in the conference. Acharya Lokesh Muni will hold a historical meeting of religious harmony with His Holiness Pope Francis at Vatican City on 7 March to discuss World Peace and Harmony. Acharya along with an international delegation will have Personal Audience with H.H. Pope. The delegation will meet Pontifical Council of Inter-Religious Dialogue (PCID) and will go for a guided tour of St. Peter’s Baslica and Vatican Museum. Acharya Lokesh addressing the gathering at Acharya Lokesh Ashram in Karol Bagh said that dialogue with supreme religious leader of Christian community in the whole world Pope at Vatican City and address at Interreligious Conference by KAICIID will be an historical step towards world peace and harmony. My aim is to take Indian culture of love, brotherhood and religious harmony to different parts of the world so that international masses adapt it and move ahead towards establishing world peace. I will discuss World Peace and Harmony through interreligious harmony with H.H. Pope and at KAICIID. Archbishop Giam Battista Diquattro, Apostolic Nuncio to India gave the special message of H.H. Pope to Acharya Lokesh Muni at the Ashram. Acharya will address interfaith seminars from 1-4 March in Switzerland. He will also celebrate Indian Festival of colors and mutual brotherhood Holi in historic Gurudwara of Switzeland.

आचार्य लोकेश विश्व शांति व सद्भावना यात्रा पर यूरोप के लिए रवाना परम पावन पोप फ्रांसिस से आचार्य लोकेश सर्वधर्म सद्भाव पर चर्चा करेंगे आचार्य लोकेश ऑस्ट्रिया व स्विटज़रलैंड में अंतरधार्मिक सम्मेलन को संबोधित करेंगे

अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक जैन आचार्य डा. लोकेश मुनि विश्व शांति व सद्भावना यात्रा पर यूरोप के लिए रविवार 25 फरवरी को नई दिल्ली अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से रवाना होंगे | आचार्य लोकेश KAICIID द्वारा वियना ऑस्ट्रिया में आयोजित ‘शांति के लिए अंतरधार्मिक संवाद : शांतिपूर्ण अस्तित्व और सामान नागरिकता’ अन्तर्राष्ट्रीय अंतरधार्मिक सम्मेलन को 26-27 फरवरी संबोधित करेंगे | आचार्य लोकेश KAICIID सलाहकार समिति के सदस्य है , वो 28 फरवरी को KAICIID सलाहकार समिति के सम्मानित सदस्य के रूप में जैन धर्म का प्रतिनिधित्व करते हुए सलाहकार समिति की बैठक को संबोधित करेंगे | सम्मेलन में विश्व शांति व धार्मिक सद्भाव के लिए संयुक्त कार्य योजना पर विचार विमर्श होगा | आचार्य लोकेश वैटिकन सिटी में परम पवन पोप फ्रांसिस से भेंट कर विश्व शांति और धार्मिक सद्भाव पर चर्चा करेंगे | 7 मार्च को होने वाले इस ऐतिहासिक अंतरधार्मिक संवाद में अन्तर्राष्ट्रीय शिष्ठमंडल आचार्य लोकेश मुनि के साथ रहेगा | शिष्ठमंडल पोंटीफिक्ल काउंसिल ऑफ़ इंटर रिलिजन डायलॉग से 6 मार्च को भेंट करेगा साथ में सेंट पीटर चर्च और वैटिकन संग्रालय का अवलोकन करेगा | आचार्य लोकेश ने करोल बाग स्थित आचार्य लोकेश आश्रम में सभा को संबोधित करते हुए कहा कि सम्पूर्ण विश्व में ईसाई समुदाय के सर्वोच्च धर्मगुरु पोप से वार्ता और KAICIID द्वारा आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय अंतरधार्मिक सम्मेलन में संबोधन, विश्व शांति व सद्भावना के क्षेत्र में ऐतिहासिक कदम है | मेरा उद्देश्य भारत की प्रेम, भाईचारे व धार्मिक सद्भाव की संस्कृति को विश्व के कोने कोने तक ले जाना है ताकि वैश्विक जनता इस संस्कृति को अपनाकर विश्व शांति की ओर आगे बढ़े | परम पवन पोप के साथ संवाद एवं KAICIID सम्मेलन के माध्यम से मैं अंतर धार्मिक संवाद द्वारा विश्व शांति व सद्भावना की स्थापना पर चर्चा करूँगा | भारत में अपोस्टोलिक नानशिया आर्चबिशप गियाम बटिस्टा डायकट्रो ने आचार्य लोकेश मुनि को परम पवन पोप का विशेष सन्देश दिया | आचार्य लोकेश 1 से 4 मार्च तक स्विटज़रलैंड में अंतरधार्मिक सम्मेलनों को संबोधित करेंगे और रंगों, एकता व सद्भावना के त्यौहार होली को स्विटज़रलैंड के ऐतिहासिक गुरुद्वारे में मनाएंगे |