News


Acharya Lokesh inaugurates Chicago Jain Centre Silver Jubilee Jain Religion promotes Social Peace and Harmony - Gurudev Jinchandra Religion should be associated with social work – Acharya Lokesh

25-06-2018

Ambassador of Peace Jain Acharya Dr. Lokesh Muni addressing the inauguration ceremony of the Silver Jubilee of the Chicago Jain Centre said that from June 22 to July 1, 2018, the 25th anniversary of the Chicago Jain Centre will be celebrated with enthusiasm my best wishes and congratulations to all the workers and office bearers. Currently, about 70 Jain Centers through which Jain philosophy is being promoted for social welfare, they are all to be appreciated for their outstanding social works. The program was organized in collaboration with Indian Ambassador in Chicago. Gurudev Shri Jinchandra ji said that Jainism is a scientific religion, despite being ancient; it offers a solution to many present day problems. Presently we are face with three major global problems, climate change, violence and terrorism, poverty and inequality. The solution for all these problems is found in Jain philosophy promoted by Lord Mahavira. Jain Acharya Lokesh ji said that the Chicago Jain Center has the honor of being the first Shikharband Traditional Jain temple in America. Chicago Jain centre is doing remarkable social welfare works by associating religion with social welfare. The reciprocal harmony, coordination and unity of the members of the Chicago Jain Center are a motivational example. In the Chicago Jain Center, a wonderful confluence of tradition and innovation is found. On one hand, there are 24 attractive statues of the Jain Tirthankaras, on other hand open space is available for the vast auditorium with the most sophisticated resources, diverse rooms of knowledge, rich library, spacious dining room, parking and other modern facilities He appealed to the Jain devotees to come together and contribute to world peace and harmony efforts. Swastishri Bhattarak ji, Senator Sen Tom, Swami Shrishpragnag ji, Padmashree Dr. Kumar Pal Desai, Shri Sajan Shah, Shri Pramukh Bhai Bhakta, Hitesh Shah, Dr. Sanjeev ji, Goddha, Shri Deepak Bhai Shah, and other eminent people were present in the inaugural ceremony of Silver Jubilee celebrations which will continue for one week. Chairman Shri Atul Shah, President, Shri Vipul Shah welcomed everyone. With dedicated and tireless work is done with the Vice Chairman Mr. Hitesh Shah, Vice President Mr. Dilip Shah, General Secretary Mr. Piyush Gandhi, Himanshu Jain, Jignesh Jain, Surendra Shah, Tejas Shah, Vasant Shah, Dinesh Shah Silver Jubilee celebrations have been organised successfuly.

आचार्य लोकेश शिकागो जैन सेंटर की रजत जयंती समारोह का उदघाटन किया जैन धर्म का शांति व सद्भावना के प्रयासों में महत्वपूर्ण योगदान - गुरुदेव जिनचंद्र विश्व कल्याण के लिए धर्म को समाज सेवा से जोड़ना आवश्यक – आचार्य लोकेश

विश्व शान्ति दूत आचार्य डा. लोकेश मुनि ने शिकागो जैन सेंटर की रजत जयंती के उदघाटन समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि 22 जून से 1 जुलाई 2018 तक, शिकागो जैन सेंटर की 25 वीं वर्षगांठ हर्षोल्लास के साथ मनाई जा रही है इसके लिए सभी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारीयों को हार्दिक शुभ कामनाएँ | अमेरिका में वर्तमान में लगभग 70 जैन केंद्र जिनके माध्यम से जैन दर्शन का समाज कल्याण के लिए प्रचार हो रहा है इसके लिए वो सभी प्रशंसा के पात्र हैं। कार्यक्रम का आयोजन शिकागो में भारतीय राजदूत के सहयोग से हुआ | जैन आचार्य लोकेश एवं गुरुदेव श्री जिनचंद्र जी ने कहा कि जैन धर्म एक वैज्ञानिक धर्म है, बहुत प्राचीन होने के बावजूद, यह मौजूदा युग की कई समस्याओं का समाधान प्रस्तुत करता है। वर्तमान में तीन प्रमुख वैश्विक समस्याएं, जलवायु परिवर्तन, हिंसा और आतंकवाद, गरीबी और असमानता है। इन सभी समस्याओं के लिए समाधान भगवान महावीर द्वारा प्रचारित जैन दर्शन में पाया जाता है| जैन आचार्य लोकेश एवं गुरुदेव श्री जिनचंद्र जी ने कहा कि शिकागो जैन सेंटर को अमेरिका में प्रथम शिखरबंध पारंपरिक जैन मंदिर होने का सम्मान प्राप्त है| शिकागो जैन सेंटर के सदस्यों का पारस्परिक सद्भाव, समन्वय और एकता एक प्रेरक उदाहरण हैं। शिकागो जैन सेंटर में परंपरा और ,नवाचार का एक अद्भुत संगम पाया जाता है। एक तरफ 24 तीर्थंकरों की मन मोहक प्रतिमायें है तो दूसरी और अत्याधुनिक संसाधनों से युक्त विशाल सभागार, ज्ञानशाला के विविध कक्ष, समृद्ध पुस्तकालय, विशाल भोजन कक्ष तथा पार्किंग आदि के लिए खुली जगह उपलब्ध है | उन्होंने आने वाले समय में जैन धर्मानुयायियों को एकजुट होकर विश्व शांति व सद्भावना के प्रयासों के लिए योगदान देने की अपील की | रजत जयंती समारोह के अंतर्गत एक सप्ताह तक चलने वाले विविध कार्यक्रमों के उदघाटन समारोह में स्वस्तिश्री भट्टारक जी, सीनेटर सेन टॉम, , स्वामी श्री श्रुतप्रज्ञ जी, पद्मश्री डा. कुमार पाल देसाई, श्री साजन शाह, श्री सन्मुख भाई भक्त, हितेश शाह, डा. संजीव जी गोधा, श्री दीपक भाई शाह, आदि विशिष्ठ महानुभाव उपस्थित रहे | चेयरमेन श्री अतुल शाह, अध्यक्ष श्री विपुल शाह ने सभी का स्वागत किया| वाईस चेयरमेन श्री हितेश शाह, उपाध्यक्ष श्री दिलीप शाह, महासचिव श्री पियूष गाँधी, हिमांशु जैन, जिग्नेश जैन, सुरेन्द्र शाह, तेजस शाह, वसंत शाह, दिनेश शाह के साथ समस्त कार्यकारिणी ने रजत जयंती समरोह को सफल बनाने में समर्पित भाव से अथक परिश्रम किया |