News


Acharya Lokesh, Subramanian Swamy addressed the Hindu Heritage Celebration Indian Culture has great contributio in Uniting the World – Subramaniyan Swamy Moderanism & Spirituality both can bring balanced development - Acharya Lokesh

03-11-2018

Member of Indian Parliament Dr. Subramanian Swamy, Founder of Ahimsa Vishwa Bharti Acharya Dr. Lokesh Muni, High Commissioner of India in Canada His Excellency Vikas Swaroop, Sadguru Brahmeshanandacharya, Adhyatmanand Swami, Yogguru Aanand Giri, Dwarkeshlal ji from Gujrat and many eminent people different parts of the world addressed the Hindu Heritage celebrations organized in Canada to discussed religious unity and brotherhood. Vasudhaiva Kutumbkam Hindu Heritage Celebration is a platform through which Hindu Culture, traditions and culture come together from different parts of the world. MP Subramanian Swami on the occasion said that Indian Culture can play an important role towards establishing World Unity and enhancing Human Values. There is a need to take the practical form of this culture to different parts of the world. I am hopeful that when Policy Makers and Religious Gurus will work together efforts of World Peace will be encouraged. Ambassador of Peace Acharya Dr. Lokesh Muni said that amazing coordination of modernism and spirituality is seen here, modernism and spirituality can together bring complete development. . Pluralist culture of India is an inspiration for the entire world. He said that World is one family, we all are creation of the same universe. The effort made for World Unity and to give the message of world peace keeping and forget the differences of region, language, religion, caste and colour is a matter of appreciation. High Commissioner of India in Canada Vikas Swaroop said that we should take the spiritual and religious values to younger generations. Through such celebrations our traditions will reach present generation. Shri Ramesh Chotai, Kash Sood, Shiv Bansal, Ranvir Dogra, Dr. Doobey, Harshit Shah made endless efforts for the success of the program.

आचार्य लोकेश, सुब्रमणियण स्वामी ने हिन्दू संस्कृति उत्सव को संबोधित किया भारतीय संस्कृति का वैश्विक एकता स्थापित करने मे महत्वपूर्ण योगदान – स्वामी आधुनिकता और आध्यात्म के समन्वय से संतुलित विकास संभव – आचार्य लोकेश

कनाडा में आयोजित हिन्दू संस्कृति उत्सव में भारतीय संसद के सदस्य डा. सुब्रमणियण स्वामी, अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक आचार्य लोकेश मुनि, कनाडा में भारत के राजदूत महामहिम विकास स्वरूप, सद्गुरु ब्रहमेश्वरा नन्द जी, अध्यात्मनन्द स्वामी जी, योगुरु आनंद गिरि जी, गुजरात से द्वारकेशवरलाल जी व विश्व के कोने कोने से आए अनेक प्रतिष्ठित महानुभावों ने भाग लिया और धार्मिक एकता व बंधुत्व पर अपने विचार व्यक्त किए | वासुधेव कुटुंबकम हिन्दू हेरिटेज एक ऐसा अंतरराष्ट्रीय आयोजन है जिसके माध्यम से विश्व के कोने कोने मे प्रचलित हिन्दू संस्कृति, परम्पराओं और मान्यताओं को एक मंच पर आने का अवसर मिलता है | सांसद सुब्रमणियण स्वामी ने इस अवसर पर कहा कि भारतीय संस्कृति का वैश्विक एकता और मानवी मूल्यों को उजागर करने में एक महत्पूर्ण भूमिका निभा सकती है | जरुरत है इस संस्कृति के व्यवहारिक रूप को विश्व के कोने कोने में ले जाने की | आशा है नीति निर्धारकों एवं धार्मिक संतों के एकजुट होकर काम करने से विश्व शांति के प्रयासों को गति मिलेगी | शांतिदूत आचार्य लोकेश मुनि ने कहा कि कनाडा में आधुनिकता और अध्यात्म का अद्भुत संगम देखने को मिला, आधुनिकता और अध्यात्म के समन्वय से ही संतुलित विकास संभव है | भारत की बहुलतावादी संस्कृति समूचे विश्व के लिए प्रेरक है | उन्होने कहा कि सारा विश्व एक परिवार है, हम सब एक ही परम ब्रह्मांड की उत्पत्ति है | इस मंच से क्षेत्र, धर्म, रंग के भेद को भुला कर वैश्विक एकता का सन्देश देने का प्रयास किया गया है यह बेहद प्रसंशनीय है | कनाडा में भारत के राजदूत विकास स्वरूप ने कहा कि आध्यात्मिक व धार्मिक परम्पराओं को युवा पीढ़ी तक ले जाना आवश्यक है | ऐसे आयोजनों के माध्यम से ही युवाओं को प्राचीन परंपरों से अवगत कराया जा सकता है | कार्यक्रम के सफल आयोजन में रमेश चोटाई, काश सूद, शिव बंसल, रणवीर डोगरा, डा.दूबे, हर्षित शाह ने पूर्ण सहयोग दिया |